Aeroplane mein teen pahiye kyon Lage hote Hain

दोस्तों अगर आप यह जानना चाहते हो कि Aeroplane mein teen pahiye kyon Lage hote Hain तो यह पोस्ट आपके लिए ही है क्योंकि आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं एरोप्लेन के सभी इंपॉर्टेंट बातों के बारे में और यह बातें आपके लिए बेहद इंपोर्टेंट है अगर आप स्टूडेंट हो या फिर एरोप्लेन के बारे में रुचि रखते हो तो चलिए आज की पोस्ट को स्टार्ट करते हैं और बताते हैं एरोप्लेन के नीचे जो नीचे तीन पहिए दिए होते हैं वह क्यों होते हैं

नोट –

दोस्तों अगर आप व्हाट्सएप नंबर पाना चाहते हो तो ऊपर आपको एक फोटो देखने को मिल रहा होगा इस फोटो को कम से कम 30 सेकंड तक ध्यान से देखिए जब आप 30 सेकंड तक फोटो को ध्यान से देखोगे तो आपको फोटो के बीचो बीच में एक नंबर देखने को मिलेगा उस नंबर पर आप संपर्क कर सकते हो लेकिन ध्यान रहे फोटो को कम से कम 30 सेकंड तक ध्यान से जरूर देखें

Aeroplane mein teen pahiye kyon Lage hote Hain

दोस्तों आप सभी को पता होगा कि एरोप्लेन जब लैंड करता है तो उसके नीचे सबसे पहले तीन पहिए देखने को मिलते हैं जो कि जमीन पर कुछ दूर तक घसीटते चले जाते हैं उसके बाद में ही एरोप्लेन रुक पाता है और लैंड कर पाता है जबकि हेलीकॉप्टर में ऐसा कुछ भी नहीं होता और आराम से लैंड कर जाता है तो उसको मैं आपको बता दूं कि एरोप्लेन में ऊपर पंखा नहीं होता जबकि हेलीकॉप्टर में ऊपर एक बहुत बड़ा पंखा होता है या पंखा जहां पर चाहे वहां पर हेलीकॉप्टर को रोक नहीं सकता है और जहां पर चाहे लैंड भी करा सकता है और जहां पर चाहे वहां से उसे हवा में उड़ा भी सकता है

यह भी देखें 👉 रेशमा 9911 कांटेक्ट

जबकि दोस्तों एरोप्लेन अगर उड़ रहा है तो एक जगह पर नहीं रुक सकता क्योंकि उसमें पर नहीं होते हैं हालांकि पर तो दिए होते हैं लेकिन ऊपर पंखा जो होता है वह बिल्कुल भी नहीं होता इस वजह से वह एक जगह पर हवाओं में नहीं टिक सकता और लैंडिंग में भी उसकी स्पीड काफी ज्यादा होती है और उसकी वजन भी बहुत ज्यादा होती है इस वजह से उसे कंट्रोल करने के लिए सबसे पहले पहियों पर चलाया जाता है उसके बाद में ही एरोप्लेन पर कंट्रोल हो पाता है

helicopter mein pahiye kyon nahin hote

helicopter mein pahiye kyon nahin hote जबकि एरोप्लेन में तो तीन तीन पहिए होते हैं दोस्तों हम आपको बताता हूं एरोप्लेन का वजन बहुत भारी होता है जबकि हेलीकॉप्टर का वजन उससे कई गुना कम होता है एरोप्लेन में ऊपर पंखा नहीं होता जबकि हेलीकॉप्टर में लगभग में हेलीकॉप्टर की साइज का ही पंखा दिया होता है वह आराम से जहां पर चाहे लैंड करा सकता है जबकि एरोप्लेन पर कोई पंखा नहीं होता इस वजह से उसे जहां चाहे वहां पर लैंड नहीं करा सकते इसके लिए एयरपोर्ट होना इंपॉर्टेंट है वहां पर उसके स्टैंड वगैरह और काफी स्पेस होता है जो कि काफी मजबूत एरिया होता है वहां पर आराम से लैंड कराया जाता है

तो दोस्तों फाइनली हम इस रिजल्ट पर आते हैं कि पहिया लेंडिंग का काम करते हैं अगर हवाई जहाज में भी ऊपर बहुत बड़ा पंखा होता तो हवाई जहाज में भी पहिया लगाने की आवश्यकता शायद नहीं होती लेकिन इतना बड़ा पंखा इतने बड़े एरोप्लेन को कंट्रोल नहीं कर सकता इस वजह से हवाई जहाज में पंखा नहीं लगाया जाता और यही कारण है कि हेलीकॉप्टर में पंखे होते हैं और पहिया नहीं होता

व्हाट्सएप नंबर – 99367435…अधिक

Leave a Comment